Guwahati-Bikaner Express Derailed

साल 2022 का सबसे बड़ा रेल हादसा, घटनास्थल का नजारा दिल दहलाने वाला

जलपाईगुड़ी, पश्चिम बंगाल: उत्तर बंगाल में एक ट्रेन दुर्घटना के बाद कई यात्रियों के मलबे में दबे होने के दर्दनाक दृश्य सामने आए हैं. पश्चिम बंगाल में जलपाईगुड़ी जिले के मयनागुरी कस्बे के पास आज गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस ट्रेन के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए. समाचार एजेंसी पीटीआई ने कहा कि कम से कम पांच लोग मारे गए और 45 घायल हो गए।

घटना गुरुवार शाम करीब 5:15 बजे की है. ट्रेन की 12 बोगियां पटरी से उतर गई. इनमें सवारियों से भरे 4 डिब्बे पूरी तरह से पलट गए हैं. इनमें से एक डिब्बा पानी में उतर गया है. जो डिब्‍बा पानी में उतरा है, उसमें फंसे यात्रियों को निकाला जा रहा है. इस ट्रेन का पास के किसी भी स्टेशन पर ठहराव नहीं था. ये ट्रेन इस इलाके से गुजर रही थी. एनडीआरएफ समेत स्थानीय बचाव अभियान दल मौके पर पहुंच गया है. लोगों को बचाने का काम शुरू हो गया है.

Bikaner Express Derailed केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव कल सुबह दुर्घटनास्थल पर पहुंचेंगे.


पश्चिम बंगाल सरकार के सूत्रों के अनुसार, कम से कम 50 घायलों को बचाया गया। सूत्रों ने कहा कि 10 गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घायलों में से 24 को जलपाईगुड़ी जिला अस्पताल और 16 को मोयनागुरी सरकारी अस्पताल भेजा गया। न्यू फ्रंटियर रेलवे के सूत्रों ने कहा कि गंभीर यात्रियों को सिलीगुड़ी के उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

पश्चिम बंगाल (West Bengal train accident) के जलपाईगुड़ी के मैनगुड़ी में बीकानेर एक्सप्रेस (15633) पटरी से उतर गई है. इस हादसे में कई सवारियों के घायल

रेलवे सूत्रों के अनुसार, कई यात्रियों के पटरी से उतरे डिब्बों के अंदर फंसे होने की आशंका है और क्षतिग्रस्त डिब्बों को काटने के लिए गैस कटर का इस्तेमाल किया जा रहा है।

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि वह स्थिति पर “व्यक्तिगत रूप से निगरानी” कर रहे हैं और उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से बात की है और उन्हें बचाव कार्यों से अवगत कराया है। उन्होंने कहा, “हम अपने सभी कर्तव्यों को पूरा करेंगे।”

उन्होंने एक ट्वीट में कहा, “दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में, बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस के 12 डिब्बे आज शाम न्यू मयनागुरी (पश्चिम बंगाल) के पास पटरी से उतर गए। व्यक्तिगत रूप से त्वरित बचाव अभियान के लिए स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।”

रेल मंत्री श्री @AshwiniVaishnaw से बात की और पश्चिम बंगाल में ट्रेन दुर्घटना के मद्देनजर स्थिति का जायजा लिया। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। घायलों को शीघ्र स्वस्थ करें।

हादसे की हाई लेवल कमिश्नर रेलवे सेफ्टी जांच के आदेश दे दिए गए हैं। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और डीजी (सुरक्षा), रेलवे बोर्ड दिल्ली से दुर्घटनास्थल के लिए रवाना हो रहे हैं।

ये भी पढ़ें : कोरोना कहर से दिल्ली में नई पाबंदियां लागू

मृत्यु के लिए ₹ 5 लाख, गंभीर चोट के लिए ₹ 1 लाख और “साधारण चोटों” के लिए ₹ 25,000 के मुआवजे की घोषणा की गई है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी, जो COVID-19 स्थिति की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर रहे थे, ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से दुर्घटना के बारे में जानकारी ली। सुश्री बनर्जी, जिन्होंने जलपाईगुड़ी के जिला मजिस्ट्रेट से बात की थी, ने प्रधानमंत्री को राहत और बचाव कार्यों के बारे में जानकारी दी।

बीकानेर- गुवाहटी एक्सप्रेस ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त
दानापुर- 06115-232398/ 07759070004
सोनपुर का हेल्पलाइन नंबर 06158-221645
नवगछिया का हेल्पलाइन नंबर 8252912018
बरौनी का हेल्पलाइन नंबर 8252912043
खगड़िया का हेल्पलाइन नंबर 8252912030

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने किया एलान
मृतकों के आश्रितों को 5-5 लाख मुआवजा
गंभीर रुप से घायलों को 1-1 लाख मुआवजा
घटनास्थल पर जाएंगे रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव

Leave a Reply

You May Also Like

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

Marne Ke Baad Kya Hota Hai: स्वर्ग के बाद इस लोक में जाती है आत्मा!

Table of Contents Hide Marne Ke Baad Kya Hota Hai : मौत…

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Kalyug Ka Ant : कलयुग के अंत में क्या होगा?

Table of Contents Hide Kalyug Ka Ant: वर्तमान में कलयुग कितना बीत…