Hanuman Ji: हनुमान जी को परमात्मा प्राप्ति, हनुमान जी को मिले थे असली “आदि राम”

Hanuman Ji:
कविरदेव उर्फ मुनिंद्र जी हनुमान जी को सच्चा ज्ञान प्रदान किया । जिसके बाद हनुमान जी ने सतलोक देखने की प्रार्थना की। पूर्ण परमात्मा कबीर साहेब जी ने हनुमान जी को शाश्वत स्थान ‘सतलोक’ दिखाया और सच्चे मोक्ष मंत्र प्रदान किये जिनको जाप करने से हनुमान जी मोक्ष प्राप्त करने के योग्य बन गए।
View Post

Kabir Prakat Diwas: महान शख्सियत के धनी कबीर साहेब का प्रकट दिवस, इनका जन्म नहीं हुआ था।

Kabir Prakat Diwas: कबीर जिनका नाम सुनकर आत्मा गदगद हो जाए जिनके नाम को जुबान पर लाने से अनेकों पुण्य मिलते हैं ऐसी महान शख्सियत का प्रकट दिवस कब है? हम आपको बताते हैं कबीर साहेब प्रकट दिवस 2022 में 14 जून को है। कबीर साहेब प्रकट दिवस 2022 को इस बार बहुत कुछ अनोखा होने वाला है। बहुत सारे लोग गूगल पर सर्च कर रहे हैं कबीर साहेब प्रकट दिवस कब है तो उनको हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बताना चाहते हैं कि कबीर साहेब प्रकट दिवस 14 जून को है।
View Post

Vat Savitri Vrat: कब है वट सावित्री व्रत? इससे लाभ है या नहीं?

Vat Savitri Vrat
हिंदू धर्म में वट सावित्री व्रत को सभी व्रतों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना करने से सुहागिन नारियों का सुहाग सदा अटल रहता है। तथा वैवाहिक जीवन खुशहाल रहता है और निसंतान को संतान की प्राप्ति होती है। साथ ही संतान के जीवन में आने वाली सभी विघ्न बाधाओं का अंत होता है। इसमें कितनी सच्चाई है आइए जानते है।
View Post

Satlok (सतलोक): स्वर्ग और नरक से भिन्न एक सर्वोच्च स्थान है, हमारा वास्तविक घर सतलोक

satlok
Satlok: सतलोक में सब व्यक्तियों (स्त्री-पुरूष) का अविनाशी शरीर है। मानसरोवर पर मनुष्य के शरीर की शोभा तथा स्त्रियों की शोभा 4 सूर्यों जितनी है। परंतु अमर लोक में प्रत्येक स्त्री, पुरूष के शरीर की शोभा 16 सूर्यों के प्रकाश जितनी है। सतपुरूष का भी अविनाशी शरीर है।
View Post

गंगा मैया (नदी ) की उत्पत्ति कैसे हुई? जानिए इसका इतिहास।

ganga-nadi-ki-pauranik-katha
हरिद्वार, इलाहबाद और वाराणसी जैसे हिंदुओं के कई पवित्र स्थान गंगा नदी के तट पर ही स्थित हैं। थाईलैंड के लॉय क्राथोंग त्यौहार के दौरान सौभाग्य प्राप्ति तथा पापों को धोने के लिए बुद्ध तथा देवी गंगा के सम्मान में नावों में कैंडिल जलाकर उन्हें पानी में छोड़ा जाता है।
View Post

Chhath Puja: छठ पूजा क्या है? आओ जाने छठ पूजा का वास्तविक ज्ञान।

Chhath-Puja
द्गल ऋषि ने राम को सीता के साथ पानी में खड़े होने और सूर्य देव को अर्घ्य देने की सलाह दी थी। उन्होंने जल चढ़ाकर और सीता को शुद्ध करके यह व्रत किया।
View Post

Mirabai Story in Hindi: मीरा बाई की जीवनी, मीरा बाई की मृत्यु कैसे हुई

Mirabai-Story-in-Hindi
Mirabai Story in Hindi: कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीराबाई को राजस्थान में सब जानते ही होंगे। आज हम जानेंगे कि मीराबाई का जन्म कब और कहां हुआ? {Mirabai Story in Hindi} मीराबाई के गुरु कौन थे? कृष्ण भक्ति से क्या लाभ मिला? मीराबाई ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया। गुरु बनाना क्यों आवश्यक है? आइए जानते हैं।
View Post