Delhi Covid Cases


Delhi Covid Cases: दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में अब शनिवार और रविवार को वीकेंड कर्फ्यू रहेगा. लोगों से अपील है कि बहुत जरूरत होने पर ही या इमरजेंसी होने पर ही बाहर निकलें.
नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोविड-19 (Coronavirus) और उसके नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) के मामलों में उछाल से चिंताएं बढ़ गई हैं. कोविड के खौफ के बीच दिल्ली में नई पाबंदियां लागू की जा रही हैं. हालांकि, पब्लिक ट्रांसपोर्ट बसें और मेट्रो पूरी क्षमता के साथ चलेंगी. सरकार ने लोगों से कहा है कि घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि बसें और मेट्रो 100 प्रतिशत क्षमता के साथ चलेंगी, लेकिन कोविड सुरक्षा नियमों- जैसे सामाजिक दूरी और मास्क पहनने- का कड़ाई से पालन करना होगा.


दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि दिल्ली में अब शनिवार और रविवार को वीकेंड कर्फ्यू रहेगा. लोगों से अपील है कि बहुत जरूरत होने पर ही या इमरजेंसी होने पर ही बाहर निकलें.

उन्होंने कहा कि सभी सरकारी दफ्तरों में एसेंशियल सर्विसेज को छोड़कर बाकी सब वर्क फ्रॉम होम (Work From Home) करेंगे. प्राइवेट दफ़्तर यानी निजी कार्यालय 50 प्रतिशत क्षमता के साथ काम करेंगे यानी 50 फ़ीसदी कैपेसिटी ऑनलाइन रखें और 50% ऑफलाइन रखें.

दिल्ली में लागू होगा वीकेंड कर्फ़्यू, DDMA की बैठक में लिया गया फैसला

Delhi Covid Cases: दिल्ली में सोमवार को पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के करीब 4000 मामले सामने आए हैं और पॉजिटिविटी 6.5 फीसदी के करीब है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने यह जानकारी दी थी. उन्होंने कहा कि जितने भी केस आ रहे हैं, उनमें हॉस्पिटल की बहुत कम जरूरत पड़ रही है. घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन सतर्क जरूर रहें.

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) के ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान के अनुसार, लगातार दो दिनों तक पॉजिटिविटी रेट का 5 प्रतिशत से ज्यादा रहना रेड अलर्ट घोषित करने के मानदंडों में से एक है. रेड अलर्ट का मतलब है कि टोटल कर्फ्यू और अधिकांश आर्थिक गतिविधियों पर रोकना होगा.

‘दिल्ली में छलांग मार रहे कोरोना के मामले, लेकिन आपको चिंता नहीं करनी’: अरविंद केजरीवाल


Delhi Covid Cases मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में 29 दिसम्बर को कोविड के 923 मामले सामने आए थे जो, 30 को बढ़कर 1313, 31 दिसंबर को 1796 और 1 जनवरी को 2716 केस हो गए. उन्होंने कहा कि आज शाम तक यह आंकड़ा बढ़कर करीब 3100 हो जाएगा.

Also Read: Olympic Games Beijing 2022

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और कोविड-19 का आंकड़ा तेजी से छलांग मार रहा है लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लोगों से चिंता नहीं करने को कहा है।

Delhi Covid Cases


उन्होंने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में लोगों को पेनिक नहीं होने की अपील की है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि दिल्ली में 29 दिसंबर को कोविड-19 के 923 मामले सामने आए थे जो 30 को बढ़कर 1313 हो गए हैं केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अभी एक्टिव कैसे 6360 है। 3 दिन में 3 गुना बढ़ गए हैं मैंने कहा है कि जो लोग कोरोना से बीमार हो रहे हैं उन्हें अस्पताल जाने की जरूरत नहीं पड़ रही है। उनके बहुत माइनर सिम्टम्स है। बिना लक्षण वाले हैं।

ये भी पढ़ें – प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Yojana) की 10वीं किस्त जारी

Delhi Covid Cases केजरीवाल ने कहा कि 29 दिसंबर को हॉस्पिटल में 262 ऑक्युपेसी थी। जो 3 दिन में बाद घटकर 247 हो गई है।

उन्होंने साथ में यह भी बताया है कि दिल्ली सरकार ने अस्पतालों में 37000 बेडस की तैयारी कर रखी है लेकिन 0.22 फिसदी बेड पर ही अभी मरीज भर्ती है। उन्होंने बताया है कि कोरोना की 2nd वेव आई थी और 6600 केस थे। दिल्ली में 27 मार्च को अस्पताल में 1150 थे वेंटिलेटर की संख्या बढ़ा दी गई है। अब कभी 1 या 0 मौत हो रही है।

Also Read: Google Photos Locked Feature
Also Read:  खुशखबरी! WhatsApp गलत मेसेज भेजने की टेंशन खत्म

एक्सपर्ट्स का कहना है कि भले ही ओमिक्रोन के लक्षण हल्के हैं लेकिन अगर इन मामलों में ऐसे ही बढ़ोतरी होती रही तो अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या में इजाफा होगा, जिससे मौत का आंकड़ा भी बढ़ सकता हैं. इसलिए सबसे जरुरी बात ये हैं कि कोविड एप्रोपिएट बिहेवियर को फॉलो किया जाए.

एक तरफ जहां कोविड केसों में बढ़ोतरी हो रही हैं को वहीं दूसरी तरफ अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है. 28 दिसंबर को जहां दिल्ली में 1612 एक्टिव मरीज थे वहीं 3 जनवरी को यानी एक हफ्ते में ये आंकड़ा 11 हजार के पार हो गया जो करीब 6.8 गुना ज्यादा है. यही नहीं ऑक्सीजन सपोर्ट वाले मरीज भी बढ़ रहे हैं. 28 दिसंबर दिल्ली में 34 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे. 3 जनवरी को 3.6 प्रतिशत बढ़ोतरी के साथ ये आंकड़ा 124 तक पहुंच गया. 

Leave a Reply

You May Also Like

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

Marne Ke Baad Kya Hota Hai: स्वर्ग के बाद इस लोक में जाती है आत्मा!

Table of Contents Hide Marne Ke Baad Kya Hota Hai : मौत…

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Kalyug Ka Ant : कलयुग के अंत में क्या होगा?

Table of Contents Hide Kalyug Ka Ant: वर्तमान में कलयुग कितना बीत…