E-shram Card

E-shram Card: भारत सरकार ने संपूर्ण भारत के बेरोजगार मजदूर परिवारों के लिए ई-श्रम कार्ड योजना का शुभारंभ किया है जिसके माध्यम से गरीब मजदूर परिवारों को एक हजार रुपया महीना भत्ता एवं दो लाख रुपया दुर्घटना बीमा देने की घोषणा की है। अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के ऑफिशियल वेबसाइट eshram.gov.in के माध्यम से e-Shram Card Online Registration कर सकते हैं।

जिन अभ्यर्थियों ने ई-श्रम कार्ड रजिस्ट्रेशन 2022 पूरा कर लिया है। वह भारतीय मजदूर नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से e Shram Card Payment Status जांच कर सकते हैं।
e-Shram Card से जुड़ी संपूर्ण जानकारी इस लेख में अवलोकन कर सकते हैं। इसके अलावा सरकारी योजना के बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

ई-श्रमिक कार्ड के उद्देश्य :-

e-shram Card: ई-श्रम कार्ड को श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा भारत के गरीब मजदूर परिवारों को केंद्र सरकार की सभी योजनाओं का सीधा लाभ प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है। जिसके अंतर्गत निर्माण श्रमिक, प्रवासी श्रमिक और प्लेटफार्म श्रमिक, स्ट्रीट वेंडर, घरेलू श्रमिक, कृषि श्रमिक आदि सहित सभी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का केंद्रीकृत डेटाबेस का निर्माण करना और श्रमिकों को उनके कौशल के अनुसार रोजगार प्रदान करना मुख्य उद्देश्य है।

 e- sharam card
ई-श्रम कार्ड पंजीकरण निःशुल्क

ई-श्रम कार्ड रजिस्ट्रेशन पात्रता :-

ई-श्रम कार्ड की लाभ लेने की इच्छुक भारतवासी ई-श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पात्रता के लिए वह व्यक्ति भारतीय नागरिक हो उसकी आयु सीमा 16 – 59 तक है। इस उम्र का व्यक्ति हो।

ई-श्रम कार्ड रजिस्ट्रेशन आवश्यक दस्तावेज

  1. आधार कार्ड
  2. पैन कार्ड
  3. पासपोर्ट साइज फोटो
  4. मोबाइल नंबर
  5. बैंक खाता विवरण


ई-श्रम कार्ड रजिस्ट्रेशन के प्रमुख फायदे 2022 :-

e-Shram Card Registration Benefits -ई-श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने के महत्वपूर्ण फायदे के बारे में नीचे अवलोकन कर सकते हैं:-

» भारत सरकार की महत्वपूर्ण कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा।
» ई-श्रमिक 1000 रुपया भत्ता महीना।
» ई-श्रम कार्ड धारक को 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा मिलेगा।
» सरकार की ओर से श्रमिकों के लिए लाई जाने वाली किसी भी सुविधा का सीधा लाभ मिल सकेगा।
» भविष्य में पेंशन की सुविधा मिल सकती है।
» स्वास्थ्य इलाज में आर्थिक सहायता मिलेगा।
» गर्भवती महिलाओं को अपने बच्चों के भरण-पोषण के लिए उचित सुविधा दिया जावेगा।
» मकान निर्माण में सहायता के तौर पर धनराशि प्रदान किया जावेगा।
» बच्चे की पढ़ाई में आर्थिक सहायता प्रदान किया जावेगा।
» केंद्र एवं राज्य सरकार की सभी सरकारी योजनाओं का सीधा लाभ मिलेगा।

ई-श्रम कार्ड पंजीकरण निःशुल्क

■ Also Read: नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी का जीवनकाल?

ई-श्रम कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया :-

-श्रम कार्ड ऑनलाइन फार्म प्रस्तुत करने वाले भारतीय नागरिक ई-श्रम पोर्टल के आधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in के माध्यम से आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं। e-Shramik Card Online Form प्रस्तुत करने के लिए नीचे दिए गए निर्देशों का पालन करें:-

★ सबसे पहले ई-श्रम पोर्टल की ऑफिशियल वेबसाइट eshram.gov.in पर जाएं।
★ इसके होम पेज पर जाकर रजिस्टर ऑन ई-श्रम Register on E-shram के ऑप्शन पर क्लिक करें।
★ यहां रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा, इस पेज पर अपना आधार कार्ड से लिंक्ड मोबाइल नंबर, कैप्चा कोर्ड, ईपीएफओ और ईएसआईसी मेंबर स्टेटस दर्ज करें।
★ अब मोबाइल नंबर पर OTP भेजने के विकल्प को चुनें।
★ इस ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में टाइप करें।
★ अब आवेदन फॉर्म को पूरा भरें, जिसमें आपकी व्यक्तिगत जानकारी जैसे नाम, एड्रेस, सैलरी, उम्र दर्ज करनी होगी।
★ फॉर्म पूरा भर जाने पर आपको इसके साथ जरूरी डॉक्यूमेंट्स भी अपलोड करने के पश्चात सबमिट बटन को क्लिक करें।
★ अब आपके आवेदन सफलतापूर्वक सबमिट हो गया है।

E-shram Card

■ Also Read : स्कूल व्याख्याता पद के लिए निकली 6000 भर्ती

e Shram Card Portal 2022 को भारत सरकार एवं केंद्र सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट से लिया गया है। कृपया किसी भी प्रकार की त्रुटि एवं सहायता के लिए कृपया सरकारीप्रेप ऑफिशियल Twitter पर ट्वीट कर सकते हैं। Sarkariprep.in के माध्यम से संपूर्ण भारत की सरकारी नौकरी, सामान्य ज्ञान, करंट अफेयर्स, ऑनलाइन टेस्ट सीरीज, सरकारी योजना हिंदी सबसे पहले अपडेट प्राप्त कर सकते हैं।

इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगों में शेयर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Mirabai Story in Hindi: मीरा बाई की जीवनी, मीरा बाई की मृत्यु कैसे हुई

Mirabai Story in Hindi: कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीराबाई को राजस्थान में सब जानते ही होंगे। आज हम जानेंगे कि मीराबाई का जन्म कब और कहां हुआ? {Mirabai Story in Hindi} मीराबाई के गुरु कौन थे? कृष्ण भक्ति से क्या लाभ मिला? मीराबाई ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया। गुरु बनाना क्यों आवश्यक है? आइए जानते हैं।

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

Kamakhya Temple Mystery: कामाख्या मंदिर का गुप्त रहस्य

Table of Contents Hide Kamakhya Temple Mystery: कामाख्या मंदिर का इतिहास Kamakhya…