International Friendship Day 2021
nternational Friendship Day 2021

International Friendship Day 2021: 1 अगस्त को

International Friendship Day 2021 इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे पर हम आपको बताएंगे सच्ची मित्रता कौन सी होती है, कुछ रिश्ते हमेशा अलग होते हैं जिनमें से एक रिश्ता होता है दोस्ती यह सबसे अनूठा रिश्ता होता है इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे हर साल 30 जुलाई को मनाया जाता है लेकिन भारत में इसे अगस्त महीने के पहले रविवार को मनाया जाता है।

International Friendship Day 2021 भारत में सच्ची मित्रता के कई सारे उदाहरण हैं जिनमें से कृष्ण सुदामा का सबसे फेमस और सबसे चर्चित उदाहरण है मित्रता का, बचपन से ही हम इस अनोखे रिश्ते में बंध जाते हैं और कुछ ही ऐसे सच्चे मित्र होते हैं जो उम्र भर हमारा हर परिस्थिति में साथ निभाते हैं।

Friendship Day मित्रता दिवस पर हम आपको बताएंगे इसकी शुरुआत कब हुई।

 International Friendship Day 2021

यह International Friendship Day 2021 क्यों मनाया जाता है इसके पीछे दो कहानियां प्रचलित है।

International Friendship Day 2021: पहली कहानी


ऐसा कहा जाता है कि अमेरिका सरकार ने 1935 में एक आदमी की हत्या कर दी थी। उसके बाद उस आदमी के दोस्त ने भी आत्महत्या कर ली थी। तब से अमेरिका सरकार ने उस दिन को फ्रेंडशिप डे के रूप में मनाना शुरू कर दिया। तब से उस दिन को फ्रेंडशिप डे के रूप में बनाने लग गए।

दूसरी कहानी

एक व्यापारी ने 1930 में इस दिन को मनाने की शुरुआत की थी। इस व्यापारी का नाम जोहन हाल था
उस दिन को दोस्तों के नाम कर दिया गया इस दिन सभी दोस्त एक दूसरे को फ्रेंडशिप बेल्ट बांधे हैं दोस्ती निभाने की कसमें खाते हैं रविवार को सभी की छुट्टी होती है सभी इस दिन को इंजॉय करते हैं। दोस्तों के जीवन में यह दिन बहुत ही अहम माना जाता है। इस दिन फ्रेंडशिप डे की शुरुआत करते हुए उस दिन दोस्तों को कार्ड और गिफ्ट दिए थे।

International Friendship Day 2021: अच्छे मित्र कौन होते है।

दोस्ती करने में कोई हर्ज नहीं लेकिन दोस्ती निभाना बहुत बड़ा फर्ज है इसलिए कहते हैं कि दोस्त बनाओ चाहे कम लेकिन निभाओ सबसे ज्यादा, सिर्फ दोस्ती उसी को ही नहीं कहते हैं कि कभी मिल लिया और बात कर ली, नहीं!

एक सच्चे दोस्त की पहचान होती है कि हम अपने फ्रेंड्स के प्रत्येक दुख में शामिल हो उसकी खुशी में तो सभी फ्रेंड शामिल होते हैं लेकिन दुख में शामिल होने वाला और दुख में मदद करने वाला फ्रेंड अच्छा मित्र होता है।

Happy Friendship Day Quotes in Hindi

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,

त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव

त्वमेव विद्या च द्रविणं त्वमेव,

त्वमेव सर्वम् मम देवदेवं।।

International Friendship Day 2021: एक True Story सच्ची कहानी।

वर्ष 2013 की बात है एक कॉलेज में कुछ बीए के छात्र थे, जब बीए प्रथम वर्ष शुरू हुआ तब कुछ नए मित्र बने उनसे धीरे-धीरे जान पहचान हुई और धीरे-धीरे वह हममें और हम उन में घुल मिलने लगे।

कॉलेज के समय कुछ ऐसे सितारे उम्र के आते हैं जो जीवन में हमें याद रहते हैं कुछ ऐसे अध्यापक होते हैं जिनको हम कभी नहीं बोलते ऐसे ही कुछ हमारे सहपाठी फ्रेंड होते हैं जो बहुत याद आते हैं, कॉलेज की 3 साल में हम सभी मित्रों ने बहुत इंजॉय किया, शुरुआत हुई थी 30 फ्रेंड से जो फाइनल ईयर तक मात्र 10 रह गए उनमें से कुछ मित्र आज भी संपर्क में है और कुछ अपनी जिंदगी में मस्त हो गए।

Credit: वनइंडिया हिंदी

कॉलेज की जिंदगी सभी की बहुत ही अच्छी निकल जाती है 3 साल का व्यतीत हो जाते हैं कुछ पता ही नहीं चलता, हां हमें पता चलता है कि सच्चे मित्र कौन से हैं और कौन हमारी बुराई करने वाले हैं।

 International Friendship Day 2021

अगर आपके भी सच्चे मित्र हैं तो कमेंट बॉक्स में उनके नाम जरूर लिखें।

ये भी पढ़ें – 7 Benifits of Lemon

ये भी पढ़ें – पसीना सेहत के लिए कितना अच्छा या बुरा? 

International Friendship Day 2021: जीवन जब समझ पड़ी तब पता चला ये है सच्चे मित्र।

हमारी जिंदगी के हमने जब 20 25 वर्ष गुजार दिए तब हमें पता चला कि सच्चा मित्र तो सिर्फ परमात्मा ही होता है जिनकी प्रार्थना हम स्कूल के दिनों में बोलते थे, असली शखा भी परमात्मा ही होते हैं।

Friendship Day 2021 Wishes In Hindi एक स्कूल समय की प्रार्थना जो हम प्रतिदिन गाते थे।

तुम्ही हो माता, पिता तुम्ही हो ।

तुम्ही हो बंधू, सखा तुम्ही हो ॥

तुम्ही हो माता, पिता तुम्ही हो ।

तुम्ही हो बंधू, सखा तुम्ही हो ॥

तुम ही हो साथी, तुम ही सहारे ।

कोई ना अपना सिवा तुम्हारे ॥

तुम ही हो साथी, तुम ही सहारे ।

कोई ना अपना सिवा तुम्हारे ॥

तुम ही हो नईया, तुम ही खिवईया ।

तुम ही हो बंधू, सखा तुम ही हो ॥

तुम ही हो माता, पिता तुम्ही हो ।

तुम ही हो बंधू, सखा तुम्ही हो ॥

जो खिल सके ना वो फूल हम हैं ।

तुम्हारे चरणों की धूल हम हैं ॥

जो खिल सके ना वो फूल हम हैं ।

तुम्हारे चरणों की धूल हम हैं ॥

दया की दृष्टि, सदा ही रखना ।

तुम ही हो बंधू, सखा तुम्ही हो ॥

तुम्ही हो माता, पिता तुम्ही हो ।

तुम्ही हो बंधू, सखा तुम्ही हो ॥

तुम्ही हो माता, पिता तुम्ही हो ।

तुम्ही हो बंधू, सखा तुम्ही हो ॥

International Friendship Day 2021: Gift अपने मित्र को अनमोल पुस्तक उपहार के रूप दें।

International Friendship Day 2021 दोस्तों इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे पर अपने फ्रेंड को यह ज्ञान गंगा पुस्तक जरूर भेंट करें, बहुत अच्छी पुस्तक है इसके बारे में सोशल मीडिया पर आपने बहुत सारी पोस्ट देखी होगी यह फ्री में मिलती है।

अगर आपके भी सच्चे मित्र हैं तो कमेंट बॉक्स में उनके नाम जरूर लिखें।

ये भी पढ़ें – Guru Purnima 2021

ये भी पढ़ें – जानें शिक्षा के मूल उदेश्य को

Leave a Reply

You May Also Like

Mirabai Story in Hindi: मीरा बाई की जीवनी, मीरा बाई की मृत्यु कैसे हुई

Mirabai Story in Hindi: कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीराबाई को राजस्थान में सब जानते ही होंगे। आज हम जानेंगे कि मीराबाई का जन्म कब और कहां हुआ? {Mirabai Story in Hindi} मीराबाई के गुरु कौन थे? कृष्ण भक्ति से क्या लाभ मिला? मीराबाई ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया। गुरु बनाना क्यों आवश्यक है? आइए जानते हैं।

World Health Day: 7 अप्रैल को क्यों मनाया जाता है विश्व स्वास्थ्य दिवस? जानिए इतिहास और उद्देश्य

World Health Day: वर्ल्ड हेल्थ डे यानी विश्व स्वास्थ्य दिवस जो आज…

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…