International Youth Day 2021: युवा व्यक्ति के 5 गुण जान लो कौनसे है।

युवा व्यक्ति के 5 गुण जान लो कौनसे हैं

  1. परिवार की जिम्मेदारी को समझ कर समझदारी से हर फैसला लेना।
  2. अपनों से छोटे-बड़ों सभी का आदर सत्कार कर प्यार प्रेम से बोलना।
  3. गलत कार्य नहीं करना और ना ही किसी का सहयोग करना।
  4. नशा शराब सिगरेट अफीम गांजा आदि से कोसों दूर रहना।
  5. सच्चे संत की शरण में आकर सत भक्ति करने वाला हो।

International Youth Day 2021: इंटरनेशनल यूथ डे पर आज हम आपको बताएंगे कि देश का युवा कितना शक्तिशाली हैं। कितना पढ़ा-लिखा और गुणवान हैं। साथ ही आपको यह भी बताएंगे कि युवा दिवस क्यों और कब मनाया जाता हैं? क्या हैं इसका इतिहास?
तो आज के इस लेख में International Youth Day 2021 को पढ़ सकते हैं।

International Youth Day 2021: मनुष्य अपने पूरे जीवन काल में जन्म मरण तक कुल 6 अवस्थाओं से गुजरता हैं जिनमें शिशु, बाल, किशोर युवा प्रौढ़ और वृद्धावस्था।

इन सभी अवस्थाओं में सबसे महत्वपूर्ण अवस्था किशोर से युवा और युवा से प्रौढ़ होने की हैं।
युवा सभ्य समाज का इंजन होता हैं लेकिन यह भी तभी सम्भव हैं जब उस समाज की नींव यानी बाल्य अवस्था संस्कारित हो।

International Youth Day 2021
International Youth Day 2021


जब बच्चा कच्ची मिट्टी के समान होता हैं तो परिवार के सदस्य दादा-दादी नाना-नानी, माता-पिता और गुरू इत्यादि कुम्हार की तरह उस बालक के जीवन को सुदृढ़ आकार देकर सभ्य समाज के लिए एक जिम्मेदार व्यक्तित्व का निर्माण करते हैं।

आज के युवा को आवश्यकता हैं कि उसे उचित मार्गदर्शन करके संपूर्ण मानव समाज की उन्नति में भागीदार बनाएं। वर्तमान समय में युवा मानव सभ्यता के ऐसे मुकाम पर आकर खड़ा हैं जहां मानव विकास की गति का रथ जेट विमान से भी तेज दौड़ रहा हैं।

International Youth Day 2021: युवा गलत दिशा में आगे बढ़ रहा हैं उन्हें सही दिशा में लाना हैं। आजकल के युवा लड़के टिकटोक बनाकर मुजरा कर रहे हैं। अश्लील वीडियो बनाते हैं। जो बहुत ही शर्मनाक हैं। और युवा लड़कियां भी शरीर का प्रदर्शन करती हैं कोई लाज शर्म नहीं रही। इन्हें सही दिशा दिखाना बहुत ही जरूरी हैं, नहीं तो हमारी युवा पीढ़ी बिगड़ जाएगी।

हर विकासशील देश का युवा उस देश के विकास के लिए एक बहुत महत्वपूर्ण आधार होता हैं।

अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस कब मनाया जाता हैं

International Youth Day 2021: संयुक्त राष्ट्र संघ के निर्णय अनुसार सन 1985 को अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस घोषित किया गया था लेकिन वर्ष 2000 में पहली बार अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस का मनाया गया।
International Youth Day 2021: शुरुआत दुनिया को अधिक प्रगति के रास्ते पर ले जाने के उद्देश्य से समाज के सभी बुद्धिजीवी व्यक्तियों ने अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस की शुरुआत की।
अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस प्रतिवर्ष 12 अगस्त को मनाया जाता हैं और हर देश का युवा उस देश के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण आधार हैं।
और अगर वही युवा अपने सामाजिक और राजनीतिक जिम्मेदारी को भुला कर भोग विलास कार्यों को पूरा करने में अपना कीमती समय बर्बाद करें तो देश बर्बादी की ओर ही अग्रसर होगा।

अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस क्यों मनाया जाता हैं

International Youth Day 2021: एक तरफ परिवर्तन अनेकों उपलब्धियां, सुविधाएं और चमत्कार लेकर सामने आ रहा है वहीं दूसरी तरफ युवा वर्ग के लिए तीव्र गति से भागने की क्षमता भी चुनौती ला रही हैं ताकि युवा वर्ग इतना सक्षम को कि वह तेजी से हो रहे परिवर्तन को आसानी से समझ सके और उसे अपना सके।

नई खोज-तकनीकों की जानकारी प्राप्त कर अपनी कार्यशैली को और ज्यादा मजबूत बना सकें। वह अपने और दूसरों के जीवन को सम्मानजनक एवं सुविधा संपन्न बना सके।

आज के युवा वर्ग का विश्व स्तरीय प्रतिस्पर्धा में शामिल होना आवश्यक हो गया हैं और यही प्रतिस्पर्धा एक ओर समाज को सुख शांति तक पहुंचाने के लिए प्रयासरत हैं
तो दूसरी तरफ अशांति, चिंता, निराशा, व्यसन और बेलगाम उपद्रव की ओर बढ़ रही हैं। आज का युवा बहुत ही बुरी आदतों में लिप्त होकर अपना कीमती मानव जीवन बर्बाद कर रहा हैं। और साथ में अपने परिवार व रिश्तेदारों के लिए एक चिंता का विषय बनता जा रहा हैं।

International Youth Day 2021: युवा अपनी दिशा से भटक रहा हैं

International Youth Day 2021: भारत देश का युवा सही दिशा से भटक कर गलत दिशा में बिगड़ रहा हैं। हमें यह बात इसलिए बतानी पड़ रही हैं कि देश का 90% युवा बेरोजगार हैं और इस बेरोजगारी की वजह से कहीं पर रोजगार नहीं मिल तो युवा पीढ़ी ने सोशल मीडिया को ही अपना रोजगार बना लिया।
और इसमें दोष युवा पीढ़ी का भी नहीं हैं क्योंकि देश में बेरोजगारी ही इतनी बढ़ गई हैं कि कहीं रोजगार ही नहीं मिल रहा और यही वजह हैं कि युवा वर्ग ने सोशल मीडिया को ही रोजगार का अड्डा बना लिया।

भारत का युवा वर्ग सोशल मीडिया पर मुजरा करता नजर आता हैं। अश्लीलता परोसने देखा जा सकता हैं। और साथ ही अपने संस्कारों को कुल्हाड़ी से काटते नजर आते हैं। सोशल मीडिया एक रोजगार तो मिल गया लेकिन खुद का और देश का बहुत ज्यादा नुकसान कर दिया।
जागरूक होना सही हैं लेकिन इस जागरूकता की आड में समाज में गंदगी परोसना बिल्कुल गलत हैं।

वहीं एक आश्चर्यजनक तथ्य हम आपको बताने जा रहे हैं कि एक तरफ जहां युवा वर्ग इतना बिगड़ रहा हैं वहीं दूसरी तरफ युवा इतना अच्छा हो रहा हैं उसका स्वभाव बदल रहा हैं। छोटे बड़ों का आदर सत्कार करना सीख रहा हैं। सभी बुराइयों से दूर होकर एक सभ्य समाज तैयार हो रहा हैं। और यह केवल एक सच्चे संत की विचारधारा से और एक पुस्तक “जीने की राह” पढ़ने से युवा पीढ़ी में इतना बदलाव देखा जा रहा हैं।


और यह पवित्र पुस्तक संत रामपाल जी महाराज जो कि हरियाणा के रहने वाले हैं उनके द्वारा लिखी गई हैं।
इस पवित्र पुस्तक को पढ़ने से लाखों लोगों ने अपना नशा छोड़ दिया। जो लोग गलत कार्य करते थे उन्होंने ईमानदारी से कमा कर खाना सीख लिया। लाखों लोग जो अपने संस्कारों को भूल गए थे वह आज इस पुस्तक को पढ़ने से ज्ञानवान बन चुके हैं।
और यह किसी ओर युग की नहीं बल्कि वर्तमान समय कलयुग की बात हो रही हैं।


International Youth Day 2021: संत रामपाल जी महाराज एक ऐसा समाज तैयार कर रहे हैं जिसमें युवा पीढ़ी भक्ति करके अपना मानव जीवन सुखी कर रही हैं। और वहीं दूसरी तरफ वर्तमान समय में हम यह भी देख रहे हैं कि आज का युवा गलत कार्य कर रहा हैं।

दिन प्रतिदिन बुराइयां बढ़ रही हैं। इस सोशल मीडिया के युग ने युवा वर्ग को गलत कार्यों की और अग्रसर कर दिया हैं। माता-पिता का आदर करना भुला दिया। बहन-बेटियों से दुराचार करना सीख दिया। चोरी डकैती करना सीखा दिया।
लेकिन इसका तात्पर्य यह बिल्कुल नहीं है कि प्रत्येक युवा अपने संस्कारों को भूल गया।
आज भी बहुत से युवाओं में अच्छे संस्कार देखे जा सकते हैं।

सरकार प्रतिवर्ष युवाओं की समस्याओं को लेके उनके मुद्दों पर व समाधान को लेके यह दिवस मानती हैं ताकि देश और विकास कर सके।

अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस की थीम 2021

International Youth Day 2021: संयुक्त राष्ट्र संघ प्रत्येक वर्ष अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर कोई ना कोई थीम की घोषणा अवश्य करती हैं। और इसी कड़ी में साल 2021 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने international youth day 2021 के लिए थीम जारी की। और थीम का नाम रखा गया वैश्विक कार्यों के लिए युवाओं की भागीदारी। और जिसके राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर युवाओं की भागीदारी को केंद्र में रखा गया।

ये भी पढ़ें – 7 Benifits of Lemon

ये भी पढ़ें – पसीना सेहत के लिए कितना अच्छा या बुरा? 

ये भी पढ़ें – Guru Purnima 2021

ये भी पढ़ें – जानें शिक्षा के मूल उदेश्य को

Leave a Reply