Mandsaur-satsang-news-satsang-news

Mandsaur Satsang News: गत वर्षों से, कुछ लफंडर, बदमाश और आवारागर्दी वाले लोग जिनको कहीं कोई जगह नहीं होती। उन लोगों को बजरंग दल में शामिल कर लिया जाता है और उनको ऐसे महत्व पर वार करने का पूरा अधिकार दिया जाता है। समाज में फैली बुराइयों को जड़ से मिटाने वाले समाज सुधारक संत रामपाल जी के निहत्थे समर्थकों के साथ मारपीट के मामले आए दिन न्यूज़ में बने रहते हैं क्योंकि मनचले, बदमाश, गुंडे बजरंग दल में शामिल होकर अपने हिंदू होने का परिचय कुछ इस प्रकार देते हैं कि हमारी संस्कृति शर्मसार हो जाती है।

Mandsaur Satsang News: संत रामपाल जी महाराज का सत्संग और दहेज मुक्त विवाह (रमैनी) समारोह

Mandsaur-satsang-news

Mandsaur Satsang News: मंदसौर में संत रामपाल जी महाराज का सत्संग और दहेज मुक्त विवाह (रमैनी) समारोह आयोजित किया गया था।
सत्संग समारोह में बजरंग दल व नेताओं और कार्यकर्ताओं ने वहां हमला कर दिया और सत्संग में आए हुए निहत्थे भक्तों पर लठ बरसाने लगे। जिसमें 3 लोग घायल हो गए, इसी दौरान विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल खंड अध्यक्ष ने पिस्टल से फायर किया और गोली सतलोक आश्रम कोऑर्डिनेटर सेवादार को लगी। वह पूर्व सरपंच थे। घायल अवस्था में उन्हें कोटा रैफर किया गया। वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया। हमले के दौरान बोलिया निवासी लीला दासी (38) वर्ष, पंच पहाड़ निवासी जय श्री दासी 45 वर्ष व नायरा 3 वर्ष घायल हुए। मामले में पुलिस ने 10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर तीन युवकों को हिरासत में लिया है।

Mandsaur Satsang News: संत रामपाल जी महाराज खत्म कर रहे समाज में फैले पाखंडवाद को

Mandsaur Satsang News: ऐसा इसलिए होता है कि संत रामपाल जी महाराज जो सत्संग करते हैं वह हमारे पवित्र हिंदू धर्म के सद ग्रंथों के आधार पर होते हैं और संत रामपाल जी महाराज कबीरपंथी है कबीर साहिब जी की विचारधाराओं को आगे लाते हैं यह बात आप भी भली-भांति जानते हैं कि कबीर साहिब जी भी पाखंडवाद का विरोध करते थे यही संत रामपाल जी महाराज आज सत्संग के माध्यम कर रहे हैं समाज में फैले पाखंडवाद को खत्म कर रहे हैं तथा दहेज जैसी कुरीतियों को जड़ से खत्म कर रहे हैं।

Mandsaur Satsang News: रविवार को भैरव मैरिज गार्डन में संत रामपाल के अनुयायियों द्वारा दहेज मुक्त शादी रमणी का आयोजन किया जा रहा था। यहां भानपुरा निवासी हेमंत पिता हरलाल अकोदिया व चेचट निवासी सुनीता पिता रतनलाल वर्मा का विवाह हो रहा था। दोपहर 2.30 बजे संत रामपाल के प्रवचन चल रहे थे।

कुछ चश्मदीद गवाहों के अनुसार सत्संग चल रहा था। अचानक जय श्रीराम के नारे सत्संग में लगे और 15-20 गुंडे जिनके पास हथियार (पिस्टल), तलवार, लठ आदि थे और सत्संग में आकर मारपीट कर दहेज मुक्त विवाह को रोकने का प्रयास किया।

मौके पर अचानक ऐसी स्थिति बन जाने पर सत्संग सुन रही भीड़ में अफरा-तफरी मच गई और इन बजरंग दल के गुंडों ने सत्संग सुन रहे भक्तों पर लठ बरसाए।
जब बचाव करने के लिए वहां के सेवादार भगत आगे आए और उनको रोकने की कोशिश की तो बजरंग दल के गुंडे अध्यक्ष ने 2 फायरिंग की,

Mandsaur Satsang News: एक गोली संत रामपाल संघ सतलोक आश्रम के जिला को-अर्डिनेटर व जमुनिया गांव के पूर्व सरपंच देवीलाल मीणा (55) के सीने में लगी। घायल अवस्था में उन्हें भवानीमंडी अस्पताल पहुंचाया गया। जहां से कोटा रेफर किया। कोटा अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। एसपी को दिया ज्ञापन- भक्तजन एसपी कार्यालय पहुंचे और वारदात का विरोध किया। उन्होेंने एसपी को ज्ञापन सौंपकर आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की।

Mandsaur Satsang News: आरोपियों में कोई ब्याज पर रुपए देता तो कोई करता है ठेकेदारी

Mandsaur-satsang-news
विश्व-हिन्दू-परिषद-और-बजरंग-दल-के-गुंडों-ने-की-सत्संग-में-की-फ़ियरिंग

Mandsaur Satsang News: पुलिस सूत्राें के अनुसार शैलेंद्र ओझा बगैर लाइसेंस के ब्याज का काम करता है, वह प्राॅपर्टी ब्रोकर भी है। अनिल पाटीदार विश्व परिषद व बजरंग दल नगर अध्यक्ष है, वह खेती करता है, ललित सुथार विश्व हिंदू व बजरंगदल कर्ता व ठेकेदारी करता है, मंगल पाटीदार कार्यकर्ता है तथा खेती करता है। आरोपी राजू मेहर व कालू धोबी खुली मजदूरी करते हैं। महावीर गुर्जर मटन विक्रेता है। इसके साथ ही अवैध शराब विक्रय के मामले में उसकी शाेहरत है। टीआई के अनुसार सभी लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

यह भी पढिए: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Mandsaur Satsang News: 10 लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज


Mandsaur Satsang News: टीआई गोपाल सूर्यवंशी ने बताया शैलेंद्र ओझा, टगर भवानीमंडी निवासी गोलू मीणा, कमल पाटीदार, राजू मेहर, कालू धोबी, इंद्रा कॉलोनी निवासी महावीर गुर्जर, इंद्रा कॉलोनी निवासी ललित सुथार, किशन शर्मा, प्रजापति मोहल्ला निवासी दीपक प्रजापत, पाटीदार मोहल्ला निवासी मंगल पाटीदार के खिलाफ केस दर्ज किया है। सूत्रों के अनुसार वारदात के बाद आराेपियाें की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने 4 टीमों का गठन किया। टीम ने 7 स्थानों पर दबिश देकर मंगल, ललित सुथार, कमल पाटीदार को हिरासत में लिया।

विहिप जिलाध्यक्ष राजेश पाटीदार ने बताया कि मामला सोशल मीडिया से मेरी जानकारी में आया है। फिलहाल मैं बाहर हूं इसलिए मंदसौर पहुंचकर जानकारी लेने के बाद ही कुछ कह पाऊंगा।

आसपास के स्थानीय लोगों ने तो यह भी बताया कि जिनका घर परिवार में कोई नहीं जो गुंडे मवाली है मोहल्ले में भी लड़ाई मारपीट करते रहते हैं और आसपास की बहन बेटियों को छेड़ते रहते हैं यह सब बजरंग दल के सदस्य बने हुए हैं कहते हुए बहुत ही शर्म आती है की हिंदू होने वाले यह गुंडे इतने गिरे हुए हैं और इतनी बुराइयों से सने हुए हैं कि इनका वर्णन करना मुश्किल है।

यह भी पढिए: गंगा मैया (नदी ) की उत्पत्ति कैसे हुई? जानिए इसका इतिहास।

यह भी पढिए: Farmers Protest To Be Suspended From December 11: Samyukt Kisan Morcha

Leave a Reply

You May Also Like

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

Mirabai Story in Hindi: मीरा बाई की जीवनी, मीरा बाई की मृत्यु कैसे हुई

Mirabai Story in Hindi: कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीराबाई को राजस्थान में सब जानते ही होंगे। आज हम जानेंगे कि मीराबाई का जन्म कब और कहां हुआ? {Mirabai Story in Hindi} मीराबाई के गुरु कौन थे? कृष्ण भक्ति से क्या लाभ मिला? मीराबाई ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया। गुरु बनाना क्यों आवश्यक है? आइए जानते हैं।

Gudi padwa: गुड़ी पड़वा आज, जानें इस त्योहार का महत्व व इससे जुड़ी पौराणिक कथाएं

Table of Contents Hide गुड़ी पड़वा 2022 प्रतिपदा तिथि-Gudi padwa: गुड़ी पड़वा…