REET 2022
REET 2022

REET 2022 Registration Last Date: राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET) 2022 के आवेदन के लिए राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने एक और अवसर दिया है। अब केंडीडेट 5 जून तक अप्लाई कर सकेंगे। इस संबंध में बुधवार को आदेश जारी किए गए। REET की संशोधित अंतिम तिथि 5 जून रात 12 बजे तक रहेगी। परीक्षा शुल्क चालान केवल ईमित्र के माध्यम से जमा किए जाएंगे।

REET 2022 Registration Last Date: बोर्ड सचिव और रीट समन्वयक मेघना चौधरी ने बताया कि रीट कार्यालय में केंडीडेट से मिली शिकायतों को ध्यान में रखते हुए उनके हित में रीट 2022 के परीक्षा शुल्क चालान बनाने और ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने का एक और अवसर देने का निर्णय किया है।

इसकी संशोधित अंतिम तिथि 5 जून रात 12 बजे तक रहेगी। परीक्षा शुल्क चालान केवल ईमित्र के माध्यम से जमा किए जाएंगे। केंडीडेट रीट 2022 परीक्षा के लिए वेबसाइट http://reetbser2022.in पर आवेदन कर सकते हैं।

REET 2022
REET 2022

REET 2022 Registration Last Date: गौरतलब है कि बोर्ड द्वारा पूर्व में रीट के आवेदन भरवाए जा चुके हैं। प्रदेश के कुछ अभ्यर्थियों की शिकायत रही थी कि अंतिम दिन फीस जमा करने के बावजूद चालान जनरेट नहीं हुए और आवेदन नहीं कर पाए। कुछ अभ्यर्थी मामले काे काेर्ट में भी ले गए। काेर्ट ने भी बोर्ड काे ऐसे अभ्यर्थियों के आवेदन भराने के आदेश दिए थे। माना जा रहा है कि बोर्ड की यह कवायद कोर्ट के आदेश की अनुपालना में ही है।

REET 2022 Registration Last Date: बता दें कि यह दूसरी बार आवेदन की अंतिम तिथि को आगे बढ़ाया गया है। पहली बार रजिस्ट्रेशन की लास्ट डेट 20 मई 2022 थी, जिसे बढ़ाकर 23 मई 2022 किया गया था। अब अभ्यर्थी रीट 2022 के लिए 5 जून 2022 रात 12 बजे से पहले तक आवेदन कर सकते हैं। रीट 2022 के जरिए राजस्थान में 46,500 प्राथमिक और उच्च प्राथमिक शिक्षकों के रिक्त पदों को भरा जाएगा।

यह जरूर पढ़े: पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की गोली मारकर हत्या, एक दिन पहले ही हटाई सुरक्षा

यह जरूर पढ़े: एसएससी परीक्षा में आ सकते है GK के यह 30 महत्वपूर्ण प्रशन

Leave a Reply

You May Also Like

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Mirabai Story in Hindi: मीरा बाई की जीवनी, मीरा बाई की मृत्यु कैसे हुई

Mirabai Story in Hindi: कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीराबाई को राजस्थान में सब जानते ही होंगे। आज हम जानेंगे कि मीराबाई का जन्म कब और कहां हुआ? {Mirabai Story in Hindi} मीराबाई के गुरु कौन थे? कृष्ण भक्ति से क्या लाभ मिला? मीराबाई ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया। गुरु बनाना क्यों आवश्यक है? आइए जानते हैं।

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

Rajasthan Gram Sevak Result 2021-22 ग्राम सेवक रिजल्ट का इंतजार हुआ खत्म, अब इस दिन जारी होगा रिजल्ट

Table of Contents Hide RSMSSB Gram Sevak Result 2021-22Rajasthan Gram Sevak Result…