Sant-Rampal-Ji-Maharaj-jivan-parichay

Sant Rampal Ji Maharaj का जीवन परिचय, कितने संघर्ष के साथ कबीर साहेब का ज्ञान दिया सबको

Sant Rampal Ji Maharaj: संत रामपाल जी महाराज का परिचय

संत रामपाल जी ( Sant Rampal ji Maharaj ) हरियाणा के सिंचाई विभाग में जूनियर इंजीनियर की पोस्ट पर जॉब करे थे परमात्मा मिलने के बाद उन्होंने अपनी सरकारी नौकरी से इस्तीफा दिया जो कि सन 2000 में हरियाणा सरकार ने स्वीकार किया।

आर्य समाज की एक पुस्तक सत्यार्थ प्रकाश को टीवी चैनल पर वह अखबारों के माध्यम से एक्सपोज करने के बाद संत रामपाल जी महाराज पूरे विश्व में जाने जाने लगे।

संत रामपाल जी महाराज (Sant Rampal ji Maharaj) ने सन 2009 में विश्व के प्रसिद्ध धर्म गुरुओं को आध्यात्मिक ज्ञान चर्चा के लिए आमंत्रित किया तथा उनसे कहा कि अगर आप जी के पास मानव समाज के लिए सत भक्ति शास्त्र प्रमाणित है तो आप जी ज्ञान चर्चा करें हम आपकी सर्व बातों को समाज के सामने रखेंगे

अगर आप जी का ज्ञान शास्त्र प्रमाणित नहीं है तो आप शास्त्र विरुद्ध कर्मकांड पूजा पाठ में करवाएं क्योंकि मनुष्य जीवन 8400000 योनियों भोगने के बाद एक बार मिलता है इसको ऐसे बर्बाद नहीं करें इसके बाद साधना चैनल की मदद से सभी धर्म गुरुओं के इंटरव्यू लिए गए

यह भी पढे: Satlok Ashram Barwala News

उन सभी को साधना चैनल पर लाइव टेलीकास्ट किया गया साथ में संत रामपाल जी महाराज जी के सत्संग ओं का प्रसारण भी लाइव टेलीकास्ट किया गया इससे श्रोताओं के सामने दूध का दूध और पानी का पानी हो गया संत रामपाल जी महाराज ने सभी धर्म गुरुओं को ज्ञान में परास्त कर दिया।

संत रामपाल जी महाराज (Sant Rampal ji Maharaj) पहले बाबा श्याम जी तथा सालासर बालाजी की पूजा पाठ करते थे संत रामपाल जी महाराज चुरू जिले में स्थित सालासर बालाजी के पैदल जाते थे उनकी बचपन से ही भगवान में श्रद्धा अटूट थी, उसके बाद संत रामपाल जी महाराज स्वामी जी रामदेवानंद जी गुरु महाराज की शरण में आ गए और कबीर साहिब जी की भक्ति शुरू कर दी.

शास्त्रों के आधार ज्ञान

Sant Rampal Ji Maharaj: शास्त्रों के आधार पर दिया ज्ञान

संत रामपाल जी महाराज के 2021 में लगभग करोड़ों की संख्या में फॉलोअर है संत रामपाल जी (Sant Rampal ji Maharaj) ने चारों धर्मों के शास्त्रों का ज्ञान लिया तथा उन्होंने कबीर साहिब जी को पूर्ण परमात्मा सिद्ध किया।

संत रामपाल जी महाराज ने 17 फरवरी 1988 को पूज्य श्री स्वामी रामदेवानंद गुरु महाराज जी से नाम दीक्षा ली

एक समय कुछ भक्तों को नाम दिलवाने के लिए संत रामपाल जी महाराज ( Sant Rampal ji Maharaj ) अपने गुरुदेव जी के पास उनको लेकर गए साथ में भक्त महेंद्र दास भी थे सत्संग चल रहा था गुरु जी के आस पास बहुत सारे भगत बैठे थे, मेरे गुरुदेव उनमें से किसी की फरियाद सुन रहे थे हम सब भक्तों पीछे बैठे थे

Sant Rampal ji Maharaj :1995 से जन जन तक पहुंचा रहे हैं ज्ञान

एक सेवादार के माध्यम से पहले की तरह नए भक्तों को नाम दिलाने का निवेदन किया भगत की बात सुनकर गुरुदेव जी ने हमारी और कृपा दृष्टि की हम सब ने गुरुदेव जी को दंडवत प्रणाम किया, तभी अचानक गुरुदेव जी सैकड़ों भक्तों की उपस्थिति में दास को नाम देने का आदेश दिया। कहा कि आज के बाद तू नाम दिया करेगा। उस दिन से संत रामपाल जी महाराज ( Sant rampal ji Maharaj ) पूरे विश्व को नाम दीक्षा दे रहे हैं।

संत रामपाल जी महाराज को 1 मार्च सन 1997 को दिन के 10:00 बजे कबीर साहिब जी मिले।

Sant Rampal ji Maharaj ke satsang : टीवी चैनल पर प्रचार

संत रामपाल जी महाराज ( Sant rampal ji Maharaj ) के सुबह से लेकर शाम तक करीब नो चैनलों पर सत्संग प्रवचन प्रसारित होते हैं।

  • नेपाल 1 सुबह 6:00 बजे से 7:00 बजे तक
  • सुदर्शन न्यूज़ सुबह 6:00 बजे से 7:00 तक
  • लोकशाही न्यूज़ सुबह 6:00 बजे से 7:00 बजे तक मराठी भाषा में सत्संग
  • श्रद्धा MH1 दोपहर 2:00 से 3:00 तक
  • साधना टीवी शाम 7:30 से 8:30 तक
  • सुभारती टीवी 8:00 से 9:00 तक
  • ईश्वर टीवी सुबह 6:00 बजे से 7:00तक

इन सबके अलावा आप संत रामपाल जी महाराज ( Sant rampal ji Maharaj ) के मंगल प्रवचन यूट्यूब चैनल संत रामपाल जी पर 24 घंटे सुन सकते हैं।

संत रामपाल जी महाराज ( Sant rampal ji Maharaj ) का सोशल मीडिया पर जमकर प्रचार हो रहा है उनके शिष्य बताते हैं कि संत रामपाल जी महाराज सभी सदस्यों से प्रमाणित ज्ञान जन जन तक पहुंचा रहे हैं और उनके प्रचार का कार्य उनके शिष्य फेसबुक टि्वटर यूट्यूब इंस्टाग्राम आदि बड़े-बड़े प्लेटफार्म पर ट्रेंडिंग करके कर रहे हैं।

सोशल मीडिया से भी खूब हो रहा है प्रचार

Sant rampal ji Maharaj संत रामपाल जी महाराज जी के ऑफिशियल अकाउंट Sant rampal ji Maharaj ke official account

Facebook : Spiritual leader Sant rampal ji Maharaj
Twitter : Saint Rampal Ji Maharaj
YouTube : Sant Rampal ji Maharaj
Instagram : Jagatguru Saint Rampal Ji

संत रामपाल जी महाराज का परिचय

Leave a Reply

You May Also Like

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Marne Ke Baad Kya Hota Hai: स्वर्ग के बाद इस लोक में जाती है आत्मा!

Table of Contents Hide Marne Ke Baad Kya Hota Hai : मौत…

Mirabai Story in Hindi: मीरा बाई की जीवनी, मीरा बाई की मृत्यु कैसे हुई

Mirabai Story in Hindi: कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीराबाई को राजस्थान में सब जानते ही होंगे। आज हम जानेंगे कि मीराबाई का जन्म कब और कहां हुआ? {Mirabai Story in Hindi} मीराबाई के गुरु कौन थे? कृष्ण भक्ति से क्या लाभ मिला? मीराबाई ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया। गुरु बनाना क्यों आवश्यक है? आइए जानते हैं।

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…