World Blood Donor Day
World Blood Donor Day

World Blood Donor Day: विश्व रक्तदाता दिवस 2022 | हर दो सेकेंड में किसी न किसी को जीवित रहने के लिए खून की जरूरत होती है। मानव रक्त का कोई विकल्प नहीं है जिसका शेल्फ जीवन भी सीमित है। विश्व रक्तदाता दिवस हर साल 14 जून को मनाया जाता है। यह दिन स्वैच्छिक अवैतनिक रक्तदान को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है। हर साल 14 जून को कई जगहों पर रक्तदान शिविर भी आयोजित किए जाते हैं। इस दिन का एकमात्र उद्देश्य दुनिया भर में आवश्यकता के अनुसार रक्त पहुंचाना है। यदि ब्लड बैंकों में पर्याप्त मात्रा में रक्त उपलब्ध हो जाए तो समय रहते लाखों लोगों की जान बचाई जा सकती है।

World Blood Donor Day: विश्व रक्तदाता दिवस का इतिहास


World Blood Donor Day: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस दिन की शुरुआत वर्ष 2004 में की थी। तब से हर साल 14 जून को विश्व रक्तदाता दिवस मनाया जाता है। एक महान वैज्ञानिक के जन्मदिन को विश्व रक्तदान दिवस के रूप में मनाया जाता है। कार्ल लैंडस्टीनर का जन्म 14 जून को हुआ था, जिन्होंने 1930 में रक्त समूहों का पता लगाने के लिए नोबेल पुरस्कार जीता था।

World Blood Donor Day: विश्व रक्तदाता दिवस का महत्व


World Blood Donor Day: विश्व रक्तदाता दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को रक्तदान के प्रति जागरूक करना है। स्वेच्छा से रक्तदान करने से ब्लड बैंकों में पर्याप्त मात्रा में रक्त उपलब्ध होगा, जिससे जरूरत पड़ने पर मरीजों को आसानी से रक्त मिल सके।

रक्तदान अनगिनत लोगों को एक नया जीवन प्रदान कर सकता है। देश और दुनिया भर में हर दिन कई लोग खून की कमी से मर जाते हैं। इस दिन को मनाने से लोगों को यह संकेत मिल सकता है कि रक्तदान आवश्यक है।

World Blood Donor Day: विश्व रक्तदाता दिवस का उद्देश्य


World Blood Donor Day: विश्व रक्तदाता दिवस हर साल 14 जून को मनाया जाता है। इसका उद्देश्य अवैतनिक स्वैच्छिक रक्त दाताओं की आवश्यकता के साथ-साथ आधान के लिए सुरक्षित रक्त और रक्त उत्पादों के बारे में वैश्विक जागरूकता पैदा करना है जो राष्ट्रव्यापी स्वास्थ्य प्रणाली बनाने में मदद कर सकते हैं। यह दिन राष्ट्रीय स्वास्थ्य अधिकारियों और सरकारों को कार्रवाई करने और पर्याप्त संसाधन देने का अवसर भी प्रदान करता है। स्वैच्छिक रक्तदाताओं से रक्त के संग्रह को बढ़ाने के लिए प्रणालियों और बुनियादी ढांचे को स्थापित करना।

■ यह भी पढ़ें: विश्व पर्यावरण दिवस: तिथि, इतिहास, विषय, महत्व और उद्धरण

World Blood Donor Day: सुरक्षित रक्त और सुरक्षित रक्त उत्पाद और उनका आधान सार्वजनिक स्वास्थ्य देखभाल के महत्वपूर्ण पहलू हैं। वे लाखों लोगों की जान बचाते हैं और हर दिन कई रोगियों के स्वास्थ्य और जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाते हैं। रक्त की आवश्यकता सार्वभौमिक है, लेकिन जिन लोगों को इसकी आवश्यकता है, उनके लिए रक्त तक पहुंच नहीं है। विकासशील देशों में रक्त की कमी अविश्वसनीय रूप से तीव्र है।

World Blood Donor Day: विश्व रक्त दाता दिवस 2022 थीम


World Blood Donor Day: विश्व रक्तदाता दिवस 2022 का विषय और नारा “रक्तदान एकजुटता का कार्य है” है। यह संदेश जीवन की रक्षा और लोगों के स्वास्थ्य में सुधार करके दुनिया को स्पंदित बनाए रखने के लिए रक्त दाताओं के महत्वपूर्ण योगदान को तेज करता है। यह नियमित रूप से रक्तदान करने और बेहतर स्वास्थ्य में योगदान करने के लिए दुनिया भर में अधिक से अधिक लोगों की वैश्विक आवश्यकता को मजबूत करता है।

625वें कबीर प्रकाश दिवस पर रक्तदान


World Blood Donor Day: रक्तदान को दूसरे इंसान के लिए जीवन का उपहार माना जाता है। जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी पूरे विश्व में एक महान समाज सुधारक हैं। उनके मार्गदर्शन में 625वें कबीर साहेब प्रकाश दिवस के अवसर पर देश भर में 9 अलग-अलग स्थानों पर विशाल रक्तदान शिविरों का आयोजन किया गया। इस वर्ष विश्व दाता दिवस मनाया जा रहा है। रक्तदान शिविर सतकोक आश्रम खमनो (पंजाब), सतलोक आश्रम धुरी (पंजाब), सतलोक आश्रम सोजत (राजस्थान), सतलोक आश्रम मुंडका (दिल्ली), सतलोक आश्रम शामली (उ.प्र.), सतलोक आश्रम इंदौर (म.प्र.), सतलोक आश्रम में आयोजित किए गए। भिवानी (हरियाणा), सतलोक आश्रम कुरुक्षेत्र (हरियाणा), सतलोक आश्रम रोहतक (हरियाणा)।

World Blood Donor Day
जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल जी महाराज जी के मार्गदर्शन में 625वें कबीर साहेब प्रकाश दिवस के अवसर पर देश भर में 9 अलग-अलग स्थानों पर विशाल रक्तदान शिविरों का आयोजन किया गया।

World Blood Donor Day: संत हमेशा परोपकारी होते हैं


World Blood Donor Day: महान संत रामपाल जी एक परोपकारी संत हैं और समाज की मदद के लिए हमेशा आगे रहते हैं। कुछ महीने पहले उनके प्रयासों से उनके शिष्यों ने देश में मदद करने और दाताओं को खोजने के लिए एक वेबसाइट शुरू की थी। जगतगुरु संत रामपाल जी द्वारा रक्तदान सेवा। साइट पर क्लिक करके आप मदद करने के लिए निकटतम दाता पा सकते हैं।

World Blood Donor Day: उनका उद्देश्य ब्लड बैंकों में पर्याप्त मात्रा में रक्त उपलब्ध कराना है, और उनकी शिक्षाओं के अनुसार, उनके शिष्य जीवन बचाने में मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। संत रामपाल जी की रक्तदान संस्था ने पुलिस और सेना को हज़ारों यूनिट रक्त उपलब्ध कराया है। उनके शिष्य नियमित रूप से रक्तदान शिविर आयोजित करते हैं।

Leave a Reply

You May Also Like

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Marne Ke Baad Kya Hota Hai: स्वर्ग के बाद इस लोक में जाती है आत्मा!

Table of Contents Hide Marne Ke Baad Kya Hota Hai : मौत…

​​RSMSSB Result: फायरमैन और सहायक अग्निशमन भर्ती परीक्षा के परिणाम जारी, यहां करें चेक

​​RSMSSB Result: राजस्थान अधीनस्थ और मंत्रिस्तरीय सेवा चयन बोर्ड (RSMSSB) ने असिस्टेंट…