Hindi-Diwas-2021
Hindi Diwas 2021

World Hindi Day: विश्व हिंदी दिवस ( Hindi Diwas ) 14 सितम्बर को हर साल मनाया जाता है। इस दिन को मनाए जाने के पीछे दुनिया भर में हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार करना है। हिंदी भाषा को आगे लाना है।

Hindi Diwas : 14 सितंबर एक ऐसा दिन है जब हिंदी भाषा के लिए एक विशेष दिन होता है। जो लोग हिंदी नहीं बोलते हैं वह भी हिंदी भाषा को याद कर लेते हैं। दरअसल देश में अंग्रेजी भाषा के बढ़ते चलन और हिंदी की अनदेखी को रोकने के लिए यह दिवस मनाया जाता है ताकि हर व्यक्ति हिंदी भाषा का महत्व समझ सके।

HiHindi Diwas: महात्मा गांधी ने हिंदी को जनमानस सभी लोगों की भाषा कहा था और इसे राष्ट्रभाषा बना बनाने के लिए भी कहा गया। यह भारत देश की राजभाषा मानी जाती है लेकिन यह विश्व में प्रचलित भाषा नहीं है।

Hindi-Diwas-2021
Hindi Diwas 2021

World Hindi Day: कब और कैसे हुई हिंदी दिवस की शुरुआत

World Hindi Day: 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने देवनागरी लिपि में लिखी गई हिंदी भाषा को अधिकारिक तौर पर राजभाषा स्वीकार कर लिया था। बाद में देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की सरकार ने इस ऐतिहासिक दिन को मनाने के लिए 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया गया। 14 सितंबर 1953 को हिंदी दिवस मनाना शुरू किया गया। तब से हर साल हिंदी दिवस ( Hindi Diwas 2021) मनाया जाता है। हिंदी भाषा का महत्व लोगों के ध्यान में रहे।

World Hindi Day: पंडित नेहरू ने 1949 को दिए यह तर्क

World Hindi Day : उस समय के तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने 13 सितंबर 1949 को संसद भवन में हिंदी भाषा की चर्चा के दौरान तीन प्रमुख बातें कही थी।

पहली बात यहां की विदेशी भाषा से कोई राष्ट्रीय कभी महान नहीं बन सकता है इसीलिए हमारी मातृभाषा है राष्ट्रीय भाषा होनी चाहिए।

दूसरी बात कि विदेशी भाषा आम लोगों की भाषा नहीं हो सकती हैं आम लोगों की बोलचाल की जो भाषा है वही हमारी राष्ट्रीय भाषा हो।

भारत के हित में, भारत को एक शक्तिशाली राष्ट्र बनाने के हित में, राष्ट्रीय बनाने के हित में, जो अपनी आत्मा को पहचाने, जिसे आत्मविश्वास बढ़े तो संसार के साथ सहयोग कर सकें। वह हमारी ( Hindi Diwas 2021) हिंदी भाषा है हमें हिंदी को अपनाना चाहिए।

World Hindi Day: हिंदी दिवस मनाए जाने का उद्देश्य?

World Hindi Day: भारत में हर साल हिंदी दिवस मनाया जाता है के उद्देश्य से लोगों को रूबरू करवाना भी आवश्यक है जब तक पूरी तरह से हिंदी का उपयोग नहीं करेंगे तो हिंदी भाषा का विकास नहीं हो सकता है। हम भारतीय हिंदी भाषा को बोलने में उसका उपयोग करने में शर्म आएंगे तब हम तो हमारे देश की भाषा तो पीछे ही रह जाएगी। हिंदी भाषा के आगे बढ़ने से हर भारतीय का सम्मान होगा।

World Hindi Day: हम भारतीयों का फर्ज बनता है कि हम हिंदी भाषा को आगे बढ़ाएं। इसी कारण 14 सितंबर को हिंदी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ही सभी सरकारी कार्यालयों में अंग्रेजी के स्थान पर हिंदी का उपयोग करने की सलाह दी जाती है जो लोग हमेशा अंग्रेजी का ही उपयोग करते हैं उन्हें भी हिंदी भाषा का प्रयोग करने के लिए कहा जाता है।

World Hindi Day: गुजरात में द्वितीय अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन

Hindi Diwas in Hindi: दिनांक 14 सितंबर एवं 15 सितंबर को गुजरात के सूरत में दूसरा अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन आयोजित हो रहा है। इस सम्मेलन में कई अधिकारी, कमर्चारी एवं हिंदी प्रेमी सम्मिलित होंगे। इसका आयोजन राजभाषा का संघ के सरकारी कामकाज में बढ़ावा देना तथा प्रेरणा एवं प्रोत्साहन के रूप में किया जा रहा है।

World Hindi Day: क्या होता है हिंदी दिवस पर?

World Hindi Day: इस दिन सरकारी कार्यालय कार्यालय और विद्यालयों में निबंध प्रतियोगिता, पेंटिंग प्रतियोगिता और थोड़ा सा कार्यक्रम होता है। जिसमें विद्यार्थियों को हिंदी भाषा का महत्व समझाया जाता है। हिंदी भाषा के आगे आने से भारतीयों को गौरव महसूस होना चाहिए।

वैसे हिंदी दिवस केवल 1 दिन मनाने से कुछ नहीं होता है। हम भारतीयों को हमेशा ही हिंदी भाषा को आगे रखना चाहिए और हिंदी भाषा का अधिक प्रयोग करना चाहिए माना कि अंतरराष्ट्रीय भाषा अंग्रेजी है लेकिन साथ में हिंदी भाषा का महत्व हमें कभी नहीं भूलना चाहिए उसका प्रयोग हमें ज्यादा से ज्यादा करना चाहिए। यह हमारे स्वाभिमान और गौरव का प्रतीक है।

HWorld Hindi Day: हिंदी दिवस पर कई जगह समारोह होते हैं जिसमें राज राष्ट्रीय भाषा कीर्ति पुरस्कार और राष्ट्रभाषा गौरव पुरस्कार शामिल है यह पुरस्कार किस विभाग या समिति आदि को दिया जाता है।

World Hindi Day: भारत में कौन-कौन सी भाषा बोली जाती है।

आज के दौर में विश्व में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा एक समर्थ समर्थ भाषा हिंदी ही है। इंटरनेट सर्च से लेकर विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हिंदी का दबदबा बढ़ा है। भारत में हिंदी भाषा का प्रयोग किया जाता है लेकिन अंग्रेजी भाषा का प्रयोग भी धीरे-धीरे बढ़ने लगा है मॉडल लोग अधिकतर अंग्रेजी भाषा का प्रयोग ही करते हैं। 2001 की जनगणना के अनुसार लगभग 25 करोड़ भारतीय अपनी मातृभाषा के रूप में हिंदी का उपयोग किया करते हैं लेकिन 42 करोड़ लोग इसकी 50 से अधिक बोलियों में से एक का उपयोग करते हैं। हिंदी की प्रमुख बोलियां अवधी, भोजपुरी, ब्रजभाषा, छत्तीसगढ़ी, गढ़वाली, हरियाणवी, कुमाऊंनी, मगदी और मारवाड़ी भाषाएं शामिल हैं।

ये भी पढ़ें – International Friendship Day

World Hindi Day: हिंदी भाषा पर दो लाइन 

विविधताओं से भरे इस देश में,

लगी भाषाओं की फुलवारी है। 

इनमें हमको सबसे प्यारी 

हिंदी मातृभाषा हमारी है।

हिंदी दिवस

FAQ हिंदी दिवस

हिंदी दिवस कब मनाया जाता है?

हिंदी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है।

विश्व हिंदी दिवस कब मनाया जाता है?

विश्व हिंदी दिवस प्रति वर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है।

हिंदी दिवस कब से मनाया जा रहा है?

हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 से मनाया जा रहा है।

हिंदी पखवाड़ा कब से कब तक मनाया जाता है?

हिंदी पखवाड़ा 14 सितंबर से 28 सितंबर तक मनाया जाता है।

हिंदी दिवस एवं विश्व हिंदी दिवस में क्या अंतर है?

हिंदी दिवस पर राष्ट्र में राजभाषा हिंदी का प्रचार एवं प्रसार किया जाता है जबकि विश्व हिंदी दिवस के अवसर पर विश्व भर में हिंदी साहित्य के महत्व को दर्शाया जाता है।

हिंदी दिवस कैसे मनाया जाता है?

हिंदी दिवस एक सप्ताह तक विभिन्न सम्मेलनों, गोष्ठियों, प्रतियोगिताओं के माध्यम से हिंदी के प्रचार एवं प्रोत्साहन के रूप में मनाया जाता है।

World Hindi Day: भारत ऐसे बनेगा विश्व गुरु

World Hindi Day: सभी महान भविष्यवक्ताओं के अनुसार एक ऐसा महापुरुष अवतार हिंदू संत भारत में अवतार ले चुका है जो हिंदी भाषा को विश्व के मंच पर अद्वितीय ख्याति प्राप्त करवाएगा। किंतु हिंदी भाषा के प्रति विश्व का झुकाव रहेगा।

संत रामपाल जी महाराज हिंदी भाषा को विश्व में सम्मान और ख्याति दिलवा देंगे। वर्तमान समय में सभी सदस्यों से प्रमाणित सत्य ज्ञान को प्रमाण कर रहे हैं। सभी धर्म मजहब और जातियों के लोग संत रामपाल जी महाराज से जुड़कर कबीर परमात्मा की भक्ति कर रहे हैं।

संत रामपाल जी महाराज भारत को विश्व गुरु और महाशक्ति बनाने की ओर अग्रसर है। उनके प्रतिदिन साधना चैनल पर 7:30 से 8:30 तक आप सुन सकते हैं।

ये भी पढ़ें – International Day Against Drug Abuse

ये भी पढ़ें – संत रामपाल जी महाराज जी का उद्देश्य?

ये भी पढ़ें – Ganesh Chaturthi पर जानिए कौन है आदि गणेश

1 comment
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

तत्वदर्शी संत से दीक्षित (गुरू दीक्षा) व्यक्ति बनता है मोक्ष का अधिकारी। जाने कैसे ?

Table of Contents Hide गुरू दीक्षा: गुरु दीक्षा के कितने प्रकार होते…

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

भगवान कौन है?[Bhagwan Kaun Hai]: संत रामपाल जी भगवान है।

Table of Contents Hide भगवान कौन है? दो शक्तियां- सत्य पुरुष और…

Kalyug Ka Ant: कलयुग का अंत कब और कैसे होगा जानिए

Table of Contents Hide Kalyug Ka Ant: वर्तमान में कलयुग कितना बीत…