World Health Day

World Health Day: वर्ल्ड हेल्थ डे यानी विश्व स्वास्थ्य दिवस जो आज 7 अप्रैल को मनाया जा रहा है इसको मनाने का मकसद यही है कि दुनिया में हर व्यक्ति तक अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं की पहुंचाया जाए और लोग स्वास्थ्य के प्रति अच्छी तरीके से जागरूक हो सके। साथ ही इस दिवस को मनाने का उद्देश्य वेश भी वैश्विक स्वास्थ्य एवं इससे जुड़ी समस्याओं पर विचार विमर्श करना एवं लोगों को उन मुद्दों के लिए जागरूक करना है।

World Health Day: पूरे विश्व में डब्ल्यूएचओ द्वारा का एक कार्यक्रम आयोजित किया जाता है डब्ल्यूएचओ के नेतृत्व में हर साल दुनिया भर में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। साधारण शब्दों में कहें तो इसे मनाने का उद्देश्य यही है कि लोगों की हेलथ लेवल को अच्छा किया जा सके। लोगों की हेल्थ को लेकर उन्हें जागरूक किया जा सके। हर व्यक्ति स्वस्थ रहें और अच्छा इलाज उन्हें मिले ताकि दुनिया भर में फैली गंभीर बीमारियों की रोकथाम की जा सके।

World Health Day

World Health Day 2022 की थीम


World Health Day: इस समय जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस के संक्रमण, प्रदूषण और कई खतरनाक बीमारियों से जूझ रही है. ऐसे में अपने स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति जागरूक होना बहुत जरूरी है. (World Health Day) यही वजह है कि इसका महत्‍‍व और भी बढ़ गया है. इस साल वर्ल्ड हेल्थ डे की थीम ‘हमारा ग्रह, हमारा स्वास्थ्य (Our planet, our health)’ है.

World Health Day: डब्ल्यूएचओ के अनुसार “महामारी,  प्रदूषण, कैंसर, अस्थमा और हार्ट डिजीज जैसी बीमारियों के बीच वर्ल्ड हेल्थ डे 2022 के अवसर के पर डब्ल्यूएचओ मानव और पूरी पृथ्वी को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी कार्यों पर तुरंत वैश्विक ध्यान केंद्रित करेगा और अच्छे स्वास्थ्य पर केंद्रित समाज बनाने के लिए एक आंदोलन को बढ़ावा देगा.”

Also Read:  सरकार ने 36 घंटे लंबे राष्ट्रव्यापी कर्फ्यू को खाद्य, ईंधन और बिजली की कमी ट्रिगर विरोध के रूप में लागू किया


World Health Day का इतिहास


World Health Day: 7 अप्रैल, 1948 को विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) की स्थापना हुई थी. इसी के उपलक्ष में हर साल वर्ल्ड हेल्थ डे मनाया जाता है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन, स्‍वास्‍थ्‍य के लिए यूनाइटेड नेशंस (UN) की स्पेशलिस्ट एजेंसी है.

Also Read: गुड़ी पड़वा आज, जानें इस त्योहार का महत्व व इससे जुड़ी पौराणिक कथाएं

1 comment

Leave a Reply

You May Also Like

Mirabai Story in Hindi: मीरा बाई की जीवनी, मीरा बाई की मृत्यु कैसे हुई

Mirabai Story in Hindi: कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीराबाई को राजस्थान में सब जानते ही होंगे। आज हम जानेंगे कि मीराबाई का जन्म कब और कहां हुआ? {Mirabai Story in Hindi} मीराबाई के गुरु कौन थे? कृष्ण भक्ति से क्या लाभ मिला? मीराबाई ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया। गुरु बनाना क्यों आवश्यक है? आइए जानते हैं।

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

National Daughters Day: राष्ट्रीय बेटी दिवस कब और क्यों मनाया जाता है? क्या है इसका इतिहास, जानिए विशेष बातें

Table of Contents Hide National Daughters Day: राष्ट्रीय बेटी दिवस कब और…