Kanjhawala Case

Delhi Girl Accident: Kanjhawala Case: दिल्ली के कंझावला केस में बुधवार (4 जनवरी) को एक और सीसीटीवी फुटेज सामने आई है. ये सीसीटीवी (CCTV) हादसे की जगह से 150 मीटर की दूरी की है. सीसीटीवी में पीड़िता की दोस्त निधि (Nidhi) हादसे के बाद वहां से भागती हुई नजर आ रही है. जिसमें टाइम रात 2 बजकर 2 मिनट का दिख रहा है. कंझावला कांड में मारी गई 20 वर्षीय अंजलि सिंह (Anjali Singh) के साथ दुर्घटना के वक्त स्कूटी पर सवार युवती निधि ही थी जिसका दिल्ली पुलिस ने पता लगाकर मंगलवार को बयान दर्ज किया था.


Kanjhawala Case: पुलिस ने बताया था कि ये युवती अंजलि की सहेली है और दुर्घटना में उसे हल्की चोटें आयीं हैं जबकि कार के नीचे करीब 12 किलोमीटर तक घसीटने से अंजलि की मौत हो गई. विशेष पुलिस आयुक्त (कानून-व्यवस्था) सागर प्रीत हुड्डा ने मंगलवार को बताया था कि वह (मृतका की सहेली) डर गई थी और दुर्घटना के बाद वहां से भाग गई थी.

Kanjhawala Case: सीसीटीवी फुटेज से निधि का पता लगा

Kanjhawala Case: पुलिस ने बताया कि मृतका की सहेली ने किसी को भी दुर्घटना के बारे में नहीं बताया और उसका पता सीसीटीवी फुटेज की मदद से लगा है. पुलिस को बयान देने के बाद अंजलि की सहेली निधि मंगलवार को मीडिया के सामने आई थी. निधि ने कहा था कि कार ने हमें सामने से टक्कर मारी थी. जिसके बाद निधि एक साइड में जा गिरी जबकि अंजलि कार के नीचे फंस गई थी.

Kanjhawala Case: हादसे के बाद भाग गई थी निधि

Kanjhawala Case: निधि ने कहा था कि आरोपियों को पता था कि कार के नीचे लड़की फंसी है, लेकिन फिर भी उन्होंने कार नहीं रोकी और अंजलि को घसीटते हुए ले गए. निधि ने ये दावा भी किया था कि हादसे के समय अंजलि नशे में थी और वाहन चलाने की जिद कर रही थी. इस बात को लेकर होटल के बाहर दोनों की बहस भी हुई थी. निधि (Nidhi) ने कहा कि मैं हादसे के बाद डर गई थी और फिर वहां से भाग गई थी. बता दें कि, इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है जो अभी पुलिस हिरासत में हैं. अंजलि सिंह (Anjali Singh) का मंगलवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया था


Kanjhawala Case: कंझावला केस में मृतका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

Kanjhawala Case: कंझावला केस में जान गंवाने वाली लड़की अंजलि की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा. अंजलि की मौत कार की टक्कर से नहीं, घसीटे जाने की वजह से हुई. टक्कर के बाद करीब 12 किलोमीटर तक कार में फंसकर घिसटती रही अंजलि.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

Rishi Parashara: पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया….

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

तत्वदर्शी संत से दीक्षित (गुरू दीक्षा) व्यक्ति बनता है मोक्ष का अधिकारी। जाने कैसे ?

Table of Contents Hide गुरू दीक्षा: गुरु दीक्षा के कितने प्रकार होते…

Marne Ke Baad Kya Hota Hai: स्वर्ग के बाद इस लोक में जाती है आत्मा!

Table of Contents Hide Marne Ke Baad Kya Hota Hai: मौत के…