World-Environment-Day-2021
World-Environment-Day-2021

World Environment Day: आज हम आपके लिए World Environment Day पर अनोखा आर्टिकल लेकर आए हैं जो हमें बताएगा कि हमें प्रकृति के साथ में कैसे रहना चाहिए। हमारे क्या क्या कर्तव्य होते हैं- वातावरण को साधारण व सुरक्षित बनाने के लिए।

भारत में लोग इन्वायरमेंट को साफ रखने के लिए बहुत बड़े बड़े कदम उठा रहे हैं जिनमें मुख्य रूप से यह बिंदु है।

World Environment Day प्लास्टिक बैन

World Environment Day पर लोग प्लास्टिक को बैन कर रहे हैं घर से बना हुआ थैला यूज कर रहे हैं। आजकल हम जब भी मार्केट जाते हैं तो देखा गया है कि हर जगह हर सामान प्लास्टिक में पैक मिलता है,

उस को घर ले जाने के बाद में कूड़े में डाल देते हैं और वेस्ट कूड़े के माध्यम से वह हमारे शहर को बहुत ही गंदा कर देता है और इससे इन्वायरमेंट पर बहुत गंदा प्रभाव पड़ता है इसके साथ में कुछ लोग ऐसे भी देखने को मिले हैं जो घर से कपड़े का थैला लेकर जाते हैं और कोई सामान लेते हैं तो अपना सामान कपड़े के बैग में डाल कर ले जाते हैं और भी काफी लोग ऐसे देखे हैं जो इन्वायरमेंट के लिए बहुत ही अच्छे कार्य कर रहे हैं।

आसपास के इन्वायरमेंट को साफ रखने के लिए लोग घरों में पेड़ पौधे लगाते हैं।

कुछ प्रकृति के पुत्र ऐसे भी होते हैं जो हमेशा अपने आसपास के एनवायरमेंट को साफ सुथरा रखते हैं और वह अपने घर तथा घर के आसपास के क्षेत्र में पेड़ पौधे लगाते हैं तथा उनकी देखभाल भी करते हैं देखने में आता है कि लोग घर के अंदर रूम में भी कुछ ऐसे पौधे लगाकर रखते हैं जिससे कि उनको ऑक्सीजन आसानी से मिले। कुछ ऐसे पेड़ पौधे भी होते हैं जो हमें पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन देते हैं और उनको लगाकर लोग उनकी देखभाल करके खुद तो इसका लाभ उठा ही रहे हैं और साथ में लोगों को भी इसका लाभ उठाने को मिलता है।

Read Also: Global Mother Father Day

वर्ष 2021 में कोरोना महामारी के कारण
ऑक्सीजन की कमी आई है और यह साफ दिखाई देता है कि हमारे आसपास में पेड़ों की कमी और हमने जो प्रकृति के साथ किया उसका ही खामियाजा हमने भुगतना पड़ रहा है लोग ऑक्सीजन के लिए तरस रहे हैं क्योंकि अगर हम सही समय पर अपने आसपास का वातावरण को शुद्ध बनाकर रखें तो यह विकट परिस्थिति ना आती।

दोस्तों अपने आसपास का वातावरण को बहुत ही शुद्ध बनाकर रखें जहां कहीं भी आपको कूडा दिखाई दे उनको उठा करके डस्टबिन या फिर कूड़े वाली गाड़ी में डाल दें ताकि आसपास का वातावरण शुद्ध बना रहे।

World Environment Day पर्यावरण दिवस क्यों मनाया जाता है।


पर्यावरण दिवस क्यों मनाया जाता है कि लोगों को प्रकृति के बारे में जागरूक किया जाए और उनको बताया जाए कि हमें यहां पर क्या करना है क्या हमारे कुछ कर्तव्य भी है प्रकृति के लिए क्यों लोग जानबूझकर पेड़ पौधों को काट देते हैं और कचरा इधर-उधर फैला देते हैं हम धरती पर रहते हैं लेकिन इसका ख्याल नहीं रखते। लोगों को इसकी जानकारी देनी होंगी उनको वर्ल्ड एनवायरमेंट डे के बारे में जागरूक करना होगा तभी हम सभी मिलकर यह मिशन सफल बना सकते हैं।

“भगवान का शुक्र है कि इंसान उड़ नहीं सकता, नहीं तो पृथ्वी के साथ ही आकाश को भी बरबाद कर देता।”- हेनरी डेविड थोरियु

हेनरी डेविड ने तो यहां तक कहा है कि भगवान का शुक्र करना चाहिए कि इंसान उड़ नहीं सकता, नहीं तो आज का इंसान मानव वायुमंडल को भी बर्बाद कर देता, वहां भी गंदगी फैला देता, क्या आपने कभी सोचा है हमने इतनी बुद्धि भगवान ने दी है कि हम सही और गलत का निर्णय कर सकते हैं तो आप सोचिए कि हम क्या करने जा रहे हैं क्यों अपनी इस प्रकृति के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं क्यों हम आसपास में गंदगी फैला रहे।

Read Also: भगवान v/s पूर्ण परमात्मा

एक महामारी के कारण वातावरण शुद्ध हो गया।

World Environment Day कोरोनावायरस जैसी भयानक महामारी ने भारत में गंगा नदी को साफ कर दिया। आसपास के वातावरण में ही इतनी सफाई देखी गई कि कुछ ऐसे प्रदेश जो हिमालय के आसपास में लगते हैं जहां से हिमालय पर्वत की चोटियां दिखाई नहीं देती थी लेकिन इन्वायरमेंट साफ होने की वजह से वह चोटियां दिखाई देने लग गई।
क्या महामारी का धन्यवाद करें क्या मनुष्य अपने कर्तव्य को याद कर लेगा।

आज इस आर्टिकल की मदद से हम लोगों को जागरूक करना चाहते हैं कि वह अपनी जिम्मेदारियों को समझे और आसपास के वातावरण को साफ सुथरा बनाए रखें।

दोस्तों आज आपके लगाए पेड़ पौधे आने वाले 10 साल होंगे 20 साल होंगे लेकिन अगर आप चाहते हो कि हमारी पीढ़ी दर पीढ़ी एक सुरक्षित साफ सुथरा वातावरण देखें तो आज ही सही कदम उठाएं, आसपास में पेड़ लगाएं और पर्यावरण को साफ सुथरा बनाकर रखें। धन्यवाद

Leave a Reply

You May Also Like

Mirabai Story in Hindi: मीरा बाई की जीवनी, मीरा बाई की मृत्यु कैसे हुई

Mirabai Story in Hindi: कृष्ण भक्ति में लीन रहने वाली मीराबाई को राजस्थान में सब जानते ही होंगे। आज हम जानेंगे कि मीराबाई का जन्म कब और कहां हुआ? {Mirabai Story in Hindi} मीराबाई के गुरु कौन थे? कृष्ण भक्ति से क्या लाभ मिला? मीराबाई ने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया। गुरु बनाना क्यों आवश्यक है? आइए जानते हैं।

Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: संत रामपाल जी महाराज से नाम दीक्षा कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents Hide Sant Rampal Ji Maharaj Naam Diksha: नामदीक्षा लेना…

Rishi Parashara : पाराशर ऋषि ने अपनी पुत्री के साथ किया संभोग

पाराशर ऋषि भगवान शिव के अनन्य उपासक थे। उन्हें अपनी मां से पता चला कि उनके पिता तथा भाइयों का राक्षसों ने वध कर दिया। उस समय पाराशर गर्भ में थे। उन्हें यह भी बताया गया कि यह सब विश्वामित्र के श्राप के कारण ही राक्षसों ने किया। तब तो वह आग बबूला हो उठे। अपने पिता तथा भाइयों के यूं किए वध का बदला लेने का निश्चय कर लिया। इसके लिए भगवान शिव से प्रार्थना कर आशीर्वाद भी मांग लिया।

Marne Ke Baad Kya Hota Hai: स्वर्ग के बाद इस लोक में जाती है आत्मा!

Table of Contents Hide Marne Ke Baad Kya Hota Hai : मौत…